rights of neighbours in islam

Rights of Neighbors In Islam | इस्लाम में पड़ोसी के अधिकार

Duty of Muslims Prophet as Mercy
Share this post
  • 1.6K
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1.6K
    Shares

इस्लाम में पड़ोसियों के अधिकार (Rights of Neighbors In Islam)

Rights of Neighbors In Islam: अल्लाह के रसूल (ﷺ) ने 3 बार अल्लाह की कसम खाते हुए फ़रमाया के “अल्लाह की क़सम वो शख्स मुसलमान नहीं जिसका पड़ोसी उसकी बुराई से महफूज़ नहीं।”
– (बुखारी 5670 )

क्या हमने कभी भी अपने पड़ोसी की भूक का ख़याल किया है? क्या हमें इस बात की परवाह है कि कही वह रात को भूका तो नहीं सोया। जान लीजिये अगर हमारा पड़ोसी भूका सो गया तो हम में कोई ईमान नहीं।, क्यूंकि रहमतुल लिल आलमीन हमारे रसूल ने फ़रमाया “वह शख़्स मोमिन नहीं जो पेट भर कर खाए और उसका पड़ोसी भूखा रह जाए।”
– (शोएब उल इमान 5660)

यहाँ तक की अगर आपके पास कम खाना है तब भी आपको अपने पड़ोसी का ध्यान रखना ज़रूरी है। क्यूंकि अल्लाह के रसूल ने फ़रमाया – जब तुम सालन पकाओ तो उसमें पानी बढ़ा दो और अपने पड़ोसी का ध्यान रखो। – (मुस्लिम 2625 )

इंसानियत का ये तक़ाज़ा है की हम अपने पड़ोसी से भाई जैसा ताल्लुक़ रखें, उसकी तकलीफ में उसका साथ दें, उसकी परेशानी दूर करने की कोशिश करें । जान लीजिये अगर हमारा पड़ोसी हमारे ज़ुल्म ओ सितम से मेहफ़ूज़ नहीं तो हमपर जन्नत के दरवाज़े बन कर दिए जायेंगे। क्यूंकि,

रसूल अल्लाह (ﷺ) ने फ़रमाया, वह शख़्स जन्नत में नहीं जायेगा जिसका पड़ोसी उसके ज़ुल्मो सितम से महफूज़ न हो । – (मुस्लिम 79)

और जान लीजिये की अगर हमने अपने पड़ोसी को तकलीफ पहुंचाई तो हम में से ईमान जाता रहा, क्यूंकि,

अल्लाह के रसूल (ﷺ) ने फ़रमाया “जो कोई अल्लाह और आख़िरत के दिन पर ईमान रखता है वह अपने पड़ोसी को तकलीफ ना पहुंचाए।” – (बुखारी 6018)

आइये आज से ही अल्लाह के रसूल ﷺ के इन फरमानों पर अमल करें,  अपने पड़ोसी के साथ मोहब्बत और भाईचारे का सुलूक़ करें फिर चाहे वह मुस्लिम हो या ग़ैर मुस्लिम, क्यूंकि हमारा पड़ोसी हमारा भाई है।

Facebook Comments

Share this post
  • 1.6K
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1.6K
    Shares
Tagged

1 thought on “Rights of Neighbors In Islam | इस्लाम में पड़ोसी के अधिकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *