ईमान वालो, ईमान लाओ!

ईमान वालो, ईमान लाओ!

आज पूरी दुनिया में मुसलमानों की संख्या 180 करोड़ हैं, लेकिन क्या इतनी ही संख्या ईमान वालों की भी है? हम ये समझते हैं की जो इंसान मुस्लिम घर में पैदा हुआ या जिसने कलमा पढ़ा वह ईमान वाला है। लेकिन क्या ये 180 करोड़ मुस्लमान अल्लाह की फेहरिस्त (सूचि) में भी मुस्लिम हैं? में […]

Continue Reading

इस्लाम: अक्लमंदों का दीन

इस्लाम: अक्लमंदों का दीन – हम अक्सर धार्मिक लोगों के मुंह से ये जुमला सुनते हैं कि धर्म के मामले में अक्ल का इस्तेमाल नहीं किया जाता,

Continue Reading

मुसलमानों की हालत और उसका समाधान

मुसलमानों की हालत और उसका समाधान – कहते हैं की इंसान अगर ठान ले तो बहुत कुछ कर सकता है और इसकी मिसाल भी हमे दुनिया में देखने को मिलती हैं

Continue Reading

Surah AD-Dhuha – a motivation & solution for depression

Depression that we all know is a mental condition that eats the person from inside and this person without any visible reason keeps on feeling bad. Many scholars refer to Surah AD Dhuha of the Quran for the solution of depression but then most people don’t find anything or at least are not able to […]

Continue Reading
Azmaish ki Tayyari

आज़माइश की तैयारी – आज़माइश से पहले।

आज़माइश की तैयारी:अल्लाह ने क़ुरआन में सूरह अल-बकरा की आयत न० 155 में फरमाता है !  وَلَنَبْلُوَنَّكُمْ…. ! और हम तुम्हें ज़रूर आज़माएंगें कुछ ख़ौफ़ से और भूख से और माल और जान और फलों के नुक़सान से, और ख़ुशख़बरी दे दें सब्र करने वालों को ! ये देखें ये आजमाइशें शर्त हैं ईमान की, […]

Continue Reading
Harvard University ranks Quran as the best book for justice

Harvard University ने “क़ुरआन” को न्याय के लिए सर्वश्रेष्ठ पुस्तक के रूप में रैंक किया।

अमेरिका की प्रसिद्ध हार्वर्ड यूनिवर्सिटी ने क़ुरआन की सूरह निसा की आयत 135 (4 :135)  का हवाला देते हुए क़ुरआन को बताया न्याय और इन्साफ के लिए सबसे सर्वश्रेष्ठ पुस्तक। क़ुरआन जो ईश्वर की ओर से सम्पूर्ण मानवता के लिए आख़िरी ग्रन्थ है जो हमें जीने के सही मार्ग पर मार्गदर्शन करता है। इस्लाम और […]

Continue Reading
Qur'an's Forgotten Rights

क़ुरआन का ये हक़ लोग भूल चुके हैं।

Qur’an’s Forgotten Rights: क़ुरआन ज़िंदा कलाम है वक़्त के साथ चलता है। आज रोज़ नई ईजाद (discoveries) होती चली जा रही हैं।

Continue Reading
तो क्या अब भी क़ुरआन पर ग़ौर नहीं करोगे

तो क्या अब भी क़ुरआन पर ग़ौर नहीं करोगे?

क़ुरआन-ए-करीम, लगभग 23 साल में नाज़िल हुआ। इसके बावजूद भी हमें क़ुरआन में कहीं कोई इख़्तेलाफ़ (contradiction) नहीं मिलता।

Continue Reading
Fear and Grief

क़ुरआन ने बताया ख़ौफ़ और ग़म कैसे ख़त्म होगा।

Fear and Grief: इंसान के लिए जो दो सबसे घातक चीज़ें हैं वो है ख़ौफ़ और ग़म। ये दोनों चीज़े न सिर्फ इंसान को दिन प्रति दिन ख़त्म करती हैं,

Continue Reading
हज़रत लुक़मान की अपने बेटे को नसीहतें

हज़रत लुक़मान की अपने बेटे को नसीहतें

हज़रत लुक़मान के बारे में हमें नहीं मालूम की वह नहीं थे या नहीं, लेकिन उन्होंने अपने बेटे को जो नसीहत की उसे अल्लाह ने हमेशा के लिए क़ुरआन

Continue Reading