वह व्यक्ति हम में से नहीं जो

पैग़म्बर मुहम्मद ﷺ ने फरमाया वह व्यक्ति हम में से नहीं जो लोगों को साम्प्रदायिकता की ओर बुलाए। (अबू दाऊद)

Continue Reading

अल्लाह ने तुम्हारे लिए हराम कर दिया

पैग़म्बर मुहम्मद ﷺ ने फरमाया किअल्लाह ने तुम्हारे लिए हराम कर दिया (अवैध ठहराया) कि तुम माँ का दिल दुखाओ, लड़कियों कि हत्या करो,

Continue Reading

पहलवान वह नहीं जो लोगों को पछाड़ दे, बल्कि

पैग़म्बर मुहम्मद ﷺ ने फरमाया कि पहलवान वह नहीं जो लोगों को पछाड़ दे, बल्कि पहलवान वह है जो क्रोध के समय अपने आप को वश में रखे।

Continue Reading

अल्लाह को सबसे प्रिय कौन?

पैग़म्बर मुहम्मद ﷺ ने फरमाया कि हज़रत मूसा (अ.) ने अल्लाह से पूछा कि प्रभु आप के बन्दों में से कौन आपको सबसे प्रिय है? अल्लाह ने फ़रमाया –

Continue Reading

तुम अपने मृतकों कि भलाइयां ही बयान किया करो

पैग़म्बर मुहम्मद ﷺ ने फरमाया कि तुम अपने मृतकों कि भलाइयां ही बयान किया करो और उनकी बुराईयों के वृतांत (बयान) से बचते रहो ।

Continue Reading

वह व्यक्ति मोमिन नहीं हो सकता

वह व्यक्ति मोमिन नहीं – अल्लाह के दूत ने तीन बार अल्लाह की सौगन्ध ले कर कहा कि, “वह व्यक्ति मोमिन नहीं हो सकता” । पूछा गया कि “कौन

Continue Reading

वह व्यक्ति मोमिन नहीं हो सकता

पैग़म्बर मुहम्मद ﷺ ने फरमाया कि वह व्यक्ति मोमिन नहीं हो सकता जो भर पेट भोजन खाले जबकि उसका पड़ोसी भूखा हो। (बेहक़ी)

Continue Reading

सताए हुए की ‘आह’ से बचो

पैग़म्बर मुहम्मद ﷺ ने फरमाया सताए हुए की ‘आह’ से बचो क्यूंकि उसके और अल्लाह के मध्य कोई रुकावट नहीं होती। (बुख़ारी) View this post on Instagram #IslamShantiHai🌷🌷 A post shared by Islam Shanti Hai (@islamshantihai) on Aug 2, 2019 at 4:26am PDT

Continue Reading

मोमिन में लानत की आदत नहीं होती

पैग़म्बर मुहम्मद ﷺ ने फरमाया कि किसी मोमिन (आस्तिक) के लिए ये उचित नहीं कि उसमें लानत करते रहने की आदत हो। (तिरमिज़ी)

Continue Reading